बरसात का मौसम पर हिन्दी में निबंध | Essay on The Rainy Season in Hindi

बरसात का मौसम पर निबंध 400 से 500 शब्दों में | Essay on The Rainy Season in 400 to 500 words

बरसात के मौसम पर नि: शुल्क नमूना निबंध। ग्रीष्म ऋतु के बाद वर्षा ऋतु आती है। सूरज की गर्मी के बाद बारिश लाता है। मौसम गर्मी की भीषण गर्मी से राहत देता है। यह पौधों और पेड़ों में जीवन लाता है। तालाब, नदियाँ और नाले पूरी तरह भर गए हैं।

बगीचे में हरियाली लौट आती है। किसानों के लिए मौसम का विशेष महत्व होता है। यह उनके लिए वरदान है, क्योंकि वे खेती के लिए बारिश पर निर्भर हैं। बादलों से लदे आकाश को देखकर वे प्रसन्न होते हैं। वे हल और बैल लेकर अपने घरों से निकल जाते हैं। ये सभी मनमोहक नजारा पेश करते हैं।

बरसात का मौसम यहां की खूबसूरती में चार चांद लगा देता है। चारों तरफ हरियाली है। पेड़-पौधों में नए पत्ते निकलते हैं। वे फूलने लगते हैं। खेत हरे भरे हो जाते हैं। जब मोर बादल आकाश को देखने के लिए नाचता है, तो वह एक सुंदर दृश्य प्रस्तुत करता है। साफ आसमान में इंद्रधनुष का नजारा बेहद खूबसूरत लगता है। बच्चों को इंद्रधनुष देखने में विशेष आनंद आता है। बरसात के दिनों में रात के समय मेंढ़कों का तांता लगा रहता है। क्रिकेट की बरबादी रात के सन्नाटे को तोड़ देती है. रात के सन्नाटे में तरह-तरह के कीड़े निकल आते हैं।

भारत में लोग इस मौसम का खूब लुत्फ उठाते हैं। इस मौसम में वे पिकनिक का आयोजन करते हैं। बच्चों को उन बगीचों में घूमने में मज़ा आता है जहाँ आम के पेड़ होते हैं। वे कागज की नावों पर तैरकर और एक दूसरे पर पानी के छींटे मारकर इस मौसम का आनंद लेते हैं। वे बारिश के पानी में भीगना और बारिश के पानी में डुबकी लगाना पसंद करते हैं। वे बारिश के स्नान के बाद ताजा महसूस करते हैं। इस मौसम का लुत्फ उठाने का महिलाओं का अपना तरीका होता है। वे एक जगह इकट्ठा होते हैं और लोकगीतों के गीतों की संगत में झूले का आनंद लेते हैं। बूंदाबांदी में गाने गाने का अपना ही मजा होता है.

वर्षा ऋतु मिश्रित वरदान है। यह कभी-कभी एक भयानक तस्वीर पेश करता है। देश के अलग-अलग हिस्सों में बाढ़ आना आम बात हो गई है। इनसे जान-माल का भारी नुकसान होता है। खड़ी फसल बाढ़ में बह जाती है। मकान ढहने से कई कैदियों की जान चली जाती है। संचार नेटवर्क बाधित है। सड़कें बह जाती हैं। यातायात बाधित है। देश का एक हिस्सा दूसरे से कटा हुआ है। फसलों को नुकसान होने से खाद्यान्न संकट की समस्या बनी हुई है। बाढ़ के बाद विभिन्न प्रकार की बीमारियों का प्रकोप होता है। इन सबकी स्थिति विकट है। इन सबके बावजूद बरसात का मौसम बहुत उपयोगी होता है। इससे गर्मी से राहत मिलती है। यह पशुओं के लिए खाद्य पदार्थों और चारे के उत्पादन में मदद करता है। यह हमारे आसपास की सफाई करता है। यह ऋतु ईश्वर की देन है। हमें इस मौसम का स्वागत करना चाहिए।


You might also like