ग्रामीण जीवन पर विज्ञान का प्रभाव पर हिन्दी में निबंध | Essay on The Impact Of Science On Rural Life in Hindi

ग्रामीण जीवन पर विज्ञान का प्रभाव पर निबंध 500 से 600 शब्दों में | Essay on The Impact Of Science On Rural Life in 500 to 600 words

पर विज्ञान के प्रभाव पर नि: शुल्क नमूना निबंध ग्रामीण जीवन । विज्ञान ने ग्रामीण जीवन में एक बड़ा परिवर्तन लाया है। भारत मुख्य रूप से एक कृषि प्रधान देश है। भारत गांवों में रहता है। इसकी लगभग 86 प्रतिशत आबादी गांवों में रहती है।

अधिकांश ग्रामीण निरक्षर या अर्ध-साक्षर हैं। लेकिन ग्रामीण जीवन में मास मीडिया और आईटी की पैठ ने ग्रामीणों के दृष्टिकोण को व्यापक बना दिया है। विज्ञान ने ग्रामीणों के जीवन से अंधविश्वास और अज्ञानता को दूर कर दिया है। इसने खेती के तरीकों में क्रांति ला दी है।

विज्ञान ने हमें खेती में इस्तेमाल होने वाली विभिन्न मशीनें दी हैं। हमारे किसानों को जुताई के लिए बैलों पर निर्भर रहना पड़ता था। लेकिन अब हमारे पास ट्रैक्टर और अन्य मशीनें हैं जो बीज बोने में मदद करती हैं। मशीनों का उपयोग फसलों को काटने और पेराई के लिए किया जाता है। हमारे पास सिंचाई के लिए पंपिंग सेट और ट्यूबवेल हैं। प्राचीन काल में किसानों को सिंचाई के लिए हाथ से पानी लाना पड़ता था। अब किसान समुदाय की मदद के लिए कई तरह की मशीनें और उपकरण मौजूद हैं।

जनसंचार माध्यमों के प्रसार ने ग्रामीण जनता को बदलने के लिए बहुत कुछ किया है। अब ग्रामीण लोग तार्किक और तार्किक रूप से सोचने लगे हैं। बर्ट्रेंड रसेल के अनुसार, विज्ञान ने पृथ्वी का चेहरा बदल दिया है। दुनिया पिछले 200 वर्षों के दौरान 4000 वर्षों या उससे पहले की तुलना में अधिक बदल गई है। विज्ञान ने हमारे ज्ञान की सीमाओं को विभिन्न तरीकों और विभिन्न दिशाओं में बढ़ाया है। इसने हमें प्राकृतिक आपदाओं से लड़ने और औद्योगिक और कृषि प्रक्रियाओं में क्रांति लाने में सक्षम बनाया है।

विज्ञान ने गांवों की सूरत बदल दी है। अब दूर-दराज के गांव भी अन्य कस्बों और शहरों के साथ धातु की सड़कों से अच्छी तरह से जुड़े हुए हैं। गांवों में सभी आधुनिक सुविधाएं और सुविधाएं उपलब्ध हैं। विशाल बांधों और पुलों का निर्माण किया गया है और विभिन्न थर्मल और जलविद्युत संयंत्र स्थापित किए गए हैं। यह विज्ञान का बहुत बड़ा योगदान है। इन बांधों और पुलों ने लोगों के जीवन में बहुत अच्छा काम किया है। उन्होंने गांवों को बिजली और सिंचाई की सुविधा प्रदान की है। वैज्ञानिक प्रगति और तकनीकी प्रगति के कारण भारत खाद्यान्न उत्पादन के क्षेत्र में आत्मनिर्भर बन सका। खेती के क्षेत्र में वैज्ञानिक विधियों और प्रौद्योगिकी के व्यापक उपयोग ने उच्च उपज दी। इसने ग्रामीण जनता के जीवन में समृद्धि लाई।

विज्ञान ने परिवहन और संचार के क्षेत्र में क्रांति ला दी है। इसका प्रत्यक्ष या परोक्ष रूप से ग्रामीण जीवन पर प्रभाव पड़ा है। आधुनिक समय में शहरों की यात्रा करना आसान हो गया है। विज्ञान ने उन्हें संचार के आधुनिक साधनों से परिचित कराया है। वे अब नवीनतम फैशन प्रवृत्ति, प्रौद्योगिकी और खोजों से परिचित हैं। इस जागृति ने अद्भुत काम किया है। इससे उनके जीवन में बदलाव आया है।

इस प्रकार ग्रामीण जीवन पर विज्ञान का दूरगामी प्रभाव पड़ता है। इसने एक विकसित समाज के निर्माण में बहुत कुछ किया है। ग्रामीण जीवन में विज्ञान की जितनी अधिक पहुंच और पहुंच होगी, एक विकसित और उन्नत समाज होने की संभावना उतनी ही अधिक होगी।


You might also like