भारत में भ्रष्टाचार के 27 महत्वपूर्ण तरीके | 27 Important Modes Of Corruption In India

27 Important Modes of Corruption in India | भारत में भ्रष्टाचार के 27 महत्वपूर्ण तरीके

भ्रष्टाचार जरूरी नहीं कि पैसे के रूप में ही हो। केंद्रीय सतर्कता आयोग ने भ्रष्टाचार के सत्ताईस तरीकों की पहचान की है।

1. घटिया दुकानों/कार्यों की स्वीकृति।

2. जनता के धन का दुरूपयोग और भंडार का दुरूपयोग।

3. उन व्यक्तियों के आर्थिक दायित्व, जिनके साथ लोक सेवकों का आधिकारिक व्यवहार है।

4. अधिकारियों के साथ आधिकारिक व्यवहार करने वाले ठेकेदारों/फर्मों से पैसे उधार लेना।

5. ठेकेदारों और फर्मों को एहसान दिखाना।

6. झूठा यात्रा भत्ता, मकान किराया आदि का दावा।

7. आय से अधिक संपत्ति का कब्ज़ा।

8. लापरवाही से या अन्यथा सरकार को नुकसान पहुंचाना।

9. पूर्व अनुमति या सूचना के बिना अचल संपत्ति आदि की खरीद।

10. आधिकारिक पद/शक्तियों का दुरुपयोग।

11. भर्तियों, पदस्थापनों, स्थानान्तरणों एवं पदोन्नतियों में अवैध परितोषण की स्वीकृति।

12. निजी कार्यों के लिए सरकारी कर्मचारियों का दुरुपयोग।

13. उम्र, समुदाय के जन्म आदि के जाली प्रमाण पत्र प्रस्तुत करना।

14. रेल और हवाई मार्ग से सीटों के आरक्षण में अनियमितताएं।

15. मनीआर्डर, बीमा कवर, मूल्य देय पार्सल आदि की सुपुर्दगी न होना।

16. नए डाक टिकटों को पुराने डाक टिकटों से बदलना।

17. आयात और निर्यात लाइसेंस देने में अनियमितता।

18. लोक सेवकों की मिलीभगत से विभिन्न फर्मों द्वारा आयातित और आवंटित कोटा का दुरुपयोग।

19. टेलीफोन कनेक्शन देने में अनियमितता।

20. नैतिक अधमता।

21. उपहारों की स्वीकृति।

22. आर्थिक लाभ के लिए आयकर, संपत्ति शुल्क, आदि के आकलन के तहत।

23. स्कूटरों और कारों की खरीद के लिए स्वीकृत अग्रिमों का दुरुपयोग।

24. विस्थापित व्यक्तियों के मुआवजे के दावों के निपटान में असामान्य देरी।

25. विस्थापित व्यक्तियों के दावों का गलत आकलन।

26. आवासीय प्रयोजनों के लिए भूखण्डों के क्रय-विक्रय के संबंध में धोखाधड़ी।

27. सरकारी आवासों का अनाधिकृत कब्जा और सबलेटिंग।


You might also like